कैसे होगा क्राइम कंट्रोल: यूपी में 1,28,952 तो बिहार में 50,291 पुलिसकर्मियों के पद रिक्त

475

सरकार ने 2 जुलाई को लोकसभा में बताया कि देशभर में 5,28,396 पुलिसकर्मियों के पद पिछले साल रिक्त थे. इनमें सबसे ज्यादा 1,28,952 पद उत्तर प्रदेश में तो बिहार में 50,291 पद रिक्त रहे. इससे संकेत मिलता है कि इन राज्यों में पुलिसकर्मियों की भारी कमी है.

द मार्जिन टीम

सांकेतिक फोटोः साभार यूपी पुलिस का फेसबुक पेज

सरकार ने आज लोकसभा में बताया कि पिछले साल देशभर में 5,28,396 पुलिसकर्मियों के पद रिक्त रहे. इनमें सबसे ज्यादा 1,28,952 पद उत्तर प्रदेश में रिक्त थे. दूसरे नंबर पर बिहार है, जहां कुल 50,291 पद रिक्त थे. हालांकि रिक्त पदों के प्रतिशत के मामले में तेलंगाना और बिहार उत्तर प्रदेश से आगे हैं. तेलंगाना में 39.71 प्रतिशत को बिहार में करीब 39 प्रतिशत पद रिक्त थे. वहीं यूपी में रिक्तियां 31 प्रतिशत रहीं. जाहिर है, यह देश में पुलिसकर्मियों की कमी की हालात को उजागर कर देता है. सरकार के इस जवाब के मुताबिक, खासकर बिहार, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में पुलिसकर्मियों की कमी बहुत ज्यादा है.

दरअसल, पुलिसकर्मियों की कमी से संबंधित जी.एम. सिद्धेश्वर के सवाल के जवाब में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी. किशन रेड्डी ने 2 जुलाई को लोकसभा में देशभर में पुलिसकर्मियों की रिक्ति का आंकड़े पेश किया. हालांकि यह आंकड़ा साल जनवरी 2018 तक का ही है. लेकिन गृह मंत्रालय की ओर से पेश किए गए ये ही सबसे ताजातरीन आंकड़े हैं और इससे देश में पुलिसकर्मियों की भारी कमी की संकेत मिल जाता है. इन आंकड़ों के मुताबिक, देशभर में पुलिसकर्मियों के करीब 22 फीसदी और कुल 5,28,396 पद रिक्त पिछले साल रिक्त थे.

इन आंकड़ों के मुताबिक, राज्यों में बिहार की स्थिति भी बहुत खराब है. वहां पुलिसकर्मियों के कुल स्वीकृत पद 1,28,286 थे, लेकिन महज 77,995 पद भरे गए. इसी तरह तेलंगाना में 30,345 (39.71 प्रतिशत) पद तो पश्चिम बंगाल में 48,981 (35 प्रतिशत) पद रिक्त रहे. गुजरात में भी कुल 21,070 (19 प्रतिशत) पद रिक्त थे.

इन आंकड़ों के मुताबिक, नगालैंड ही एकमात्र राज्य है, जहां पुलिसकर्मियों की संख्या सरप्लस यानी स्वीकृत पद से ज्यादा थी. वहां पुलिसकर्मियों के स्वीकृत पद 21,292 हैं, जबकि 22,233
पुलिसकर्मी वहां कार्यरत थे. पूरे आंकड़े नीचे के बॉक्स में देखें.

(अपने सुझाव या लेख [email protected] पर भेजें)